बगैर रैंक किए यूट्यूब पर पाए ज्यादा से ज्यादा व्यूज |

व्नयूट्यूब आज के समय में डिजिटल मार्केटिंग का एक महत्वपूर्ण भाग बन चूका है चाहे वो एंटरटेमेंट की दुनिया में हो या इनफार्मेशन की दुनिया में ये अलग ही पहचान बनाये हुए है |

सीक्वल तकनीक जिसके माध्यम से पा सकेंगे कम दिनों में ज्यादा व्यूज |

चलिये आज हम आपको बताएँगे कि आप अपने यूट्यूब वीडियो पर जल्द से जल्द ज्यादा व्यूज (views) कैसे प्राप्त करें।चलिए जानते है ब्रायन डीन द्वारा बताई सीक्वल तकनीक (Sequel Technique ) के बारें में जिसके माध्यम से ब्रायन ने केवल 2 हफ़्तों में अपने यूट्यूब वीडियो पर 25,339  व्यूज (views) पाए।आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि आपके यूट्यूब वीडियो पर सबसे ज्यादा व्यूज सजेस्टेड वीडियोस (suggested videos) के माध्यम से आते है न की डायरेक्ट सर्च से।

 नए आंकड़े के मुताबिक  लगभग 40% से 60%  ट्रैफिक सजेस्टेड वीडियोस की ओर से ही आते है|

ये अलग बात है कि आप किसी वीडियो के लिए सबसे ऊपर रैंक कर रहे है तो सर्च के माध्यम से आप ज्यादा ट्रैफिक पाएंगे।एक नए आंकड़े के मुताबिक  लगभग 40% से 60%  ट्रैफिक सजेस्टेड वीडियोस की ओर से ही आता है।पर अगर आप टॉप पर नहीं है, तो आपका उद्देश्य अपने वीडियो को सजेस्टेड वीडियोस (suggested videos) में शामिल करना होना चाहिए।आप suggested videos को डेस्कटॉप में दाहिनी तरफ और मोबाइल में नीचे की तरफ देख सकते है।अगर आपका वीडियो suggested videos में आ गया तो आप हजारों/लाखों व्यूज आसानी से पा सकते है। और इसे पाने का का सबसे बढ़िया तरीका है सीक्वल तकनीक।

सर्वप्रथम अपने विषय से सम्बंधित सबसे लोकप्रिय वीडियो खोजे |

आप जिस किसी विषय पर वीडियो बनाना चाहते है, उससे सम्बंधित ऐसा वीडियो ढूंढें जिस पर बहुत सारे व्यूज हो।ध्यान रहे सीक्वल तकनीक का उद्देश्य है कि हमें अपना वीडियो suggested videos में दिखाना है। और अगर आपका वीडियो एक लोकप्रिय वीडियो के suggested videos में दर्शित होता है तो बहुत सारे दर्शक उस पर निश्चित ही क्लिक करेंगे।

अपने विषय से सम्बंधित लोकप्रिय वीडियो कैसे खोजें?

  • यूट्यूब सर्च: यूट्यूब सर्च (Youtube search) के माध्यम से अपने विषय से सम्बंधित कीवर्ड यूट्यूब सर्च बॉक्स में डालें और उस वीडियो को चुनें जिसके लिए काफी सारे व्यूज हो।
  • प्रतियोगी यूट्यूब चैनल: आप अपने प्रतियोगी के लोकप्रिय वीडियोस में से भी चुनाव कर सकते हैं। इसके लिए आपको उनके यूट्यूब चैनल पर जाना है, वीडियोस पर क्लिक करके लोकप्रियता (popularity) के अनुसार फ़िल्टर (filter) करना है। सबसे लोकप्रिय वीडियो आपको पहले नंबर पर दिखेगा।

 बेहतर और लम्बी अवधि का सीक्वल वीडियो बनाएं

अब जब आपने अपने विषय से सम्बंधित एक लोकप्रिय वीडियो चुन लिया है, आपको उससे लंबा और बेहतर वीडियो बनाना है।

यह क्यों महत्वपूर्ण है?

कुछ समय पूर्व यूट्यूब ने एक रिसर्च पेपर का प्रकाशन किया है जिसके माध्यम से  ये समझाता है कि suggested videos कैसे काम करते है। यूट्यूब अपेक्षित दृश्य समय (Expected Watch Time) पर बहुत ज्यादा ध्यान देता है।सरल शब्दों में समझाए तो यूसर आपके वीडियो पर क्लिक करने के पश्चात कितना समय वीडियो देखता है, यह यूट्यूब के लिए एक काफी महत्वपूर्ण मापदंड है।जो वीडियो यूसर्स को ज्यादा समय यूट्यूब पर बांधे रखते है, यूट्यूब उन्हें ज्यादा प्रोत्साहित करता है। आपका अपेक्षित दृश्य समय जितना ज्यादा होगा उतना ही आपके लिए बेहतर है।

इस हिसाब से दूसरे वीडियो का अपेक्षित दृश्य समय पहले वीडियो से चार गुना ज्यादा है, अतः यूट्यूब इस वीडियो को पहले की अपेक्षा ज्यादा प्रमोट (promote) करेगा।

जाहिर है की वीडियो पर ज्यादा समय व्यतीत करने के लिए वीडियो बेहतरीन होना चाहिए। इसके लिए आपको स्टेप १ में चुने हुए वीडियो को और भी बेहतर बना कर पेश करना है। आपका सीक्वल अथवा भाग २ पहले वीडियो के मुकाबले बहुत ज्यादा अच्छा होना  चाहिए नहीं तो आपके व्यूअर कम हो सकते है।

अपने वीडियो को कैसे बनाएं बेहतर |

आपके वीडियो का परिचय दमदार होना चाहिये।

ये क्यों जरूरी है?

यूट्यूब के आँकड़े बताते है की वीडियो के पहले १५ सेकंड अत्यंत महत्वपूर्ण होते है। अगर आपने दर्शक की वीडियो में दिलचस्पी पहले १५ सेकंड में खो दी तो वो किसी और वीडियो पर क्लिक कर देंगे।

पर अगर आपने पहले १५ सेकंड में उनका ध्यान अपनी और खींच लिया तो निश्चित ही वे पूरा वीडियो देखेंगे।

कैसे एक बेहतरीन इंट्रो बनाएं ?

  1. वीडियो के पहले वाक्य में ये बताए वीडियो के माध्यम से आप दर्शाकों को क्या समझाना छह रहे है |
  2. इसके तुरंत बाद अपने दावे को प्रबल करने हेतु आंकड़े बताए।
  3. लम्बी अवधि का वीडियो बनाएं। आंकड़े बताते है की लम्बे वीडियो छोटी अवधि के वीडियो से कही ज्यादा देखे जाते है।

ध्यान रखें यूट्यूब उन वीडियो की प्रमोट करता है जो लोगो को यूट्यूब पर बांधें रखते है। लम्बी अवधि के वीडियो ये काम ज्यादा अच्छे से करते है। लम्बे वीडियो का अपेक्षित दृश्य समय (Expected Watch Time) भी अधिक होता है।

 

  1. पैटर्न रुकावट (Pattern Interrupts): पैटर्न रुकावट एक ऐसी प्रक्रिया जिसमें हम वीडियो में बदलाव हेतु किसी इफ़ेक्ट द्वारा रुकावट पैदा करते है। यह रुकावट आप म्यूजिक, कैमरा एंगल में बदलाव,चुटकुले, आदि के माध्यम से कर सकते है अथवा ऐसा कुछ भी जो आपके वीडियो से भिन्न है।

 अपने वीडियो को ऑप्टिमाइज़ करें

साधारणतः आप अपने वीडियो को SEO के लिए ऑप्टिमाइज़ करते है पर सीक्वल तकनीक में आपको यह करने की जरूरत नहीं है। आप फिर भी यह करते है तो निश्चित ही आपको इसका फ़ायदा होगा।

पर यह आपका मुख्य उद्देश्य नहीं है।आपका मुख्य उद्देश्य अपने वीडियो तो लोकप्रिय वीडियो के suggested videos में दर्शाना है।

तो suggested videos हेतु अपने वीडियो को कैसे ऑप्टिमाइज़ करें ?

बहुत आसान है! अपने प्रतियोगी के कीवर्ड कॉपी करें।

यूट्यूब क्रिएटर्स अकादमी (YouTube Creators Academy) का कहना है कि यदि आपके वीडियो का मेटा डाटा (Meta Data) आपके प्रतियोगी वीडियो से मेल खाता है तो आपके वीडियो की suggested videos में दिखने की संभावना अधिक होती है।

चलिए वीडियो ऑप्टिमाइज़ करने की प्रक्रिया समझते है

  1. अपना कीवर्ड अपने वीडियो में बोले

आप अपने वीडियो में क्या बोल रहे है, ये यूट्यूब ९०-९५% तक समझ सकता है।

अतः जब यूट्यूब आपको अपना टारगेट कीवर्ड वीडियो में बोलते हुए सुनता है, वह आसानी से आपके वीडियो के विषय को समझ सकता है।

  1. वीडियो के टाइटल में कीवर्ड का उपयोग करे
  2. वीडियो विवरण अथवा डिस्क्रिप्शन (Video Description) को ऑप्टिमाइज़ करें

अपने वीडियो विवरण में उन सब कीवर्ड्स का इस्तेमाल कीजिए जो आपका प्रतियोगी कर रहा है। विवरण को कॉपी कतई ना करें। अपना विवरण खुद लिखे और मिलते जुलते कीवर्ड्स का भी प्रयोग करें।

  1. प्रतियोगी के वीडियो टैग्स (video tags) कॉपी करें

प्रतियोगी के टैग्स ढूंढने हेतु आपको उस वीडियो पेज के सोर्स कोड (Source Code) में जाना होगा। आप TubeBuddy अथवा vidIQ जैसे टूल्स का भी प्रयोग कर सकते है।आप इन में से काफी सारे उपयुक्त टैग अपने वीडियो में प्रयुक्त कर सकते है।ऐसा करने से न केवल आपका वीडियो suggested videos में दिखेगा, परन्तु up next में आकर अपने आप अगले वीडियो के रूप में खुद ब खुद प्ले भी होगा।

अपने वीडियो का क्लिक थ्रू रेट (Click Through Rate or CTR ) बढ़ाएं

अगर आप अपने suggested video से दोगुने, तिगुने या चौगुने व्यूज चाहते है तो अपने क्लिक थ्रू रेट को बढ़ाएं।

क्लिक थ्रू रेट का आसान शब्दों में मतलब होता है की देखे हुए लोगो की तुलना में कितने लोगो ने आपके वीडियो पर क्लिक किया।

उदाहरण के लिए 100 यूसर्स ने आपके वीडियो को देखा और 10 ने उस पर क्लिक किया तो आपका क्लिक थ्रू रेट 10%मतलब जितने लोग क्लिक करेंगे उतने उनके रेट बढ़ेंगे |

आपका क्लिक थ्रू रेट जितना ज्यादा होगा, आपको उतनी ज्यादा व्यूज मिलेंगे।

क्लिक थ्रू रेट को कैसे बढ़ाएं?

सबसे पहले यूट्यूब को गूगल क्रोम ब्राउज़र (Google Chrome) के incognito mode में खोले। फिर जिस वीडियो के suggested videos  में आपको अपना वीडियो दिखाना है, उस पर जाएं।

suggested videos सेक्शन के अंतर्गत सभी वीडियो के थंबनेल्स (Thumbnails) को ध्यान से देखें।आपको अपना थंबनेल कुछ इस तरीके से बनाना है कि वह सबसे अलग दिखे।आप इसके लिए सब वीडियोस से अलग नीले अथवा हरे बैकग्राउंड कलर का प्रयोग कर सकते है।दूसरी महत्वपूर्ण बात, अपने वीडियो थंबनेल में अपना स्वयं का फोटो जरूर डालें। रिसर्च बताता है की जिन वीडियोस के थंबनेल्स में चेहरे दिखाई देते है, यूसर्स उन वीडियोस पर ज्यादा क्लिक करते है।ऊपर दिए गए सारे तरीके अपना के आप यूट्यूब पे व्यूअर को बढ़ा सकते है |

 

Posted in Digital Marketing, SEO Work in Patna, SMnext Blog, Social Media Marketing, Social Media Marketing in Patna and tagged , , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published.