‘Gmail’ जिसने गूगल को पहुँचाया शिखर पर, हुआ 15 वर्ष का

गूगल की ई-मेल सेवा ( Gmail )  इस साल  15 वर्ष की हो गई है |  1 अप्रैल 2004 को अप्रैल फूल यानी की मुर्ख दिवस के दिन गूगल ने ( Gmail ) की सेवा को शुरू किया था | तब इसमें स्टोरेज क्षमता महज 1 जीबी थी और इसका बीटा वर्जन रिलीज किया गया था। आज इसका स्टोरेज बढ़कर 15 जीबी हो गया है। जीमेल पर फिलहाल 1.5 अरब मंथली यूजर्स हैं | Gmail जिसने इलेक्ट्रॉनिक मेल की दुनिया ही बदल कर रख दी जिसके विषय में हैरान कर देने वाली बात यह है की  साइट का लोगो लॉन्चिंग की एक रात पहले तैयार किया गया था |

Gmail

इसकी शुरुआत इनविटेशन-ओनली बीटा रिलीज के तौर पर की गई थी |   7 फरवरी 2007 को इसे सार्वजनिक कर दिया गया, जो शब्द जीमेल Gmail से पहली बार भेजा गया था वो ‘QUERTYUIOP‘ था |

 सबसे सस्ती  भारत में है ‘मोबाइल डेटा’

अब जीमेल Gmail ला रहा है नए फीचर्स

जीमेल Gmail अब भी उपभोक्ताओं के लिए फ्री प्रोडक्ट है, लेकिन प्रजेंटेशन और वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर समेत कई इंटरप्राइज प्रोडक्ट्स के लिए यह कमाई का बड़ा जरिया बन गया है |  जनवरी में गूगल ने इसका नया इंटरफेस डिजाइन लॉन्च किया था |  इस नए डिजाइन के तहत यूजर्स बिना पूरी कंवर्जेशन को खोले फोटोज जैसे अटैचमेंट को देख सकेंगे |  इसके अलावा गूगल एंड्रॉयड के लिए नए जीमेल के लिए पिन मैसेज, रिमाइंडर और कैटेगरी बंडल्स जैसे फीचर्स लाने जा रहा है |

डिजिटल मार्केटिंग एक उभरता हुआ कारोबार

105 भाषाओं में है मौजूद

फिलहाल Gmail जीमेल हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, मलयालम, मराठी, उड़िया, पंजाबी, तमिल, तेलेगु, उर्दू समेत दुनिया की कई अन्य भारतीय भाषाओं में भी उपलब्ध है |

डिजिटल मार्केटिंग  क्यों जरुरी है?

Posted in Business & Technology and tagged , , .

Leave a Reply

Your email address will not be published.